31 मई से पहले किसान सम्मान निधि की 11वीं किस्त, अकाउंट में ट्रांसफर

नई दिल्ली: भारत में अधिकतर किसानों की आर्थिक स्थिति बेहद ही खराब है. कई लघू और सीमांत किसान लगातार खेती-किसान में होते नुकसान की वजह से कर्जदार हो चुके हैं. ऐसे में किसानों का जीवनस्तर बेहतर करने और उनकी आय बढ़ाने के लिए सरकार कई तरह की योजनाएं चलाती है.

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि भी कुछ इसी तरह की योजना है. पीएम किसान योजना के तहत हर साल करोड़ों किसानों को छह हजार रुपये की राशि प्रदान की जाती है. बता दें कि सरकार की ओर से पीएम किसान योजना की 10 किस्तें भेजी जा चुकी हैं. अगली यानी कि 11वीं किस्त के पैसे का इंतजार किसान बेसब्री से कर रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो किसानों को पीएम किसान योजना की अगली किस्त का पैसा जल्द भेजा जा सकता है. 11वीं किस्त का पैसा इसी महीने यानी कि मई में ही ट्रांसफर हो सकता है. पीएम किसान योजना की अगली किस्त 31 मई से पहले ट्रांसफर की जा सकती है. मालूम हो कि दो हजार रुपये की ये राशि सीधे बैंक अकाउंट में ट्रांसफर की जाती है.

इन्हें भी नहीं मिलते पैसे!
पीएम किसान योजना को लेकर कई तरह के नियम बनाए गए हैं. कई ऐसे लोग हैं, जोकि पीएम किसान योजना के लिए पात्र नहीं हैं. ऐसे लोगों को पीएम किसान योजना की अगली किस्त का पैसा नहीं आएगा. संस्थागत किसानों को पीएम किसान योजना का लाभ नहीं मिलता है. ऐसे लोग जो संवैधानिक पदों पर हैं, वे इस योजना का फायदा नहीं ले सकते हैं. केंद्र या राज्य सरकारों या पीएसयू के किसी भी विभाग या किसी भी सरकारी संस्था में काम करने वाला शख्स अगर खेती करता है तो उसे स्कीम का लाभ नहीं मिलेगा.

अब 31 मई तक करवाएं ई-केवाईसी
पीएम किसान योजना का लाभ उठाने के लिए ई-केवाईसी अनिवार्य है. अगर किसी ने ई-केवाईसी नहीं करवाई है तो फिर वह योजना के पैसे से वंचित रह सकता है. सरकार ने भी इसकी आखिरी तारीख को आगे बढ़ा दिया है. अब किसान 31 मई, 2022 तक ई केवाईसी करवा सकते हैं. कुछ समय पहले आधार व ओटीपी के जरिए से होने वाली ई-केवाईसी को कुछ दिनों के लिए रोक दिया गया था, जिसके बाद फिर से शुरू कर दिया गया है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper