Monkeypox: न्यूयॉर्क ने घोषित किया हेल्थ इमरजेंसी, अमेरिका भी मंकीपॉक्स की चपेट में

 


न्यूयार्क के मेयर एरिक एडम्स व स्वास्थ्य आयुक्त अश्विन वासन के अनुसार अमेरिका के न्यूयॉर्क सिटी में मंकीपॉक्स को पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी घोषित किया गया है। यह शहर बीमारी के प्रकोप का केंद्र है जिसके के कारण न्यूयॉर्क के करीब डेढ़ लाख लोगों के इसके चपेट में आने का खतरा है।

बता दें कि मंकीपॉक्स के तेजी संक्रमण के बढ़ने के कारण न्यूयॉर्क में पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी घोषित कर दिया गया है। दुनिया में यूरोप के साथ-साथ अमेरिका में भी मंकीपॉक्स संक्रमण के मामले तेजी से सामने आ रहे हैं। जिसमे न्यूयॉर्क में इसका असर सबसे अधिक देखने को मिल रहा है। न्यूयॉर्क के मेयर एरिक एडम्स और न्यूयॉर्क नगर स्वास्थ्य एवं मानसिक स्वास्थ्य विभाग (डीओएचएमएच) के आयुक्त अश्विन वासन ने बताया कि मंकीपॉक्स के बढ़ते मामलो के बीच न्यूयॉर्क के करीब डेढ़ लाख लोगों के इसके चपेट में आने का खतरा है।इसी वजह से इस बीमारी को शनिवार को पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी घोषित किया।

पिछले 23 जुलाई को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने मंकीपॉक्स को ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी घोषित किया था। यह बीमारी मध्य और पश्चिम अफ्रीका के कुछ हिस्सों में काफि लम्बे समय से है, लेकिन यह बाहर इतने व्यापक रूप से नहीं फैली थी। भारत में अब तक मंकीपॉक्स संक्रमित चार मरीज सामने आए हैं। इन सभी की हालत स्थिर बताई जा रही है।डब्ल्यूएचओ के अनुसार करीब 80 देशों में मंकीपॉक्स के 22000 से अधिक मामले सामने आए है। इनमें से लगभग 75 संदिग्ध मौतें अफ्रीका के नाइजीरिया व कांगो में हुईं। ब्राजील, स्पेन ने भी मंकीपॉक्स से जुड़ी मौतों की सूचना दी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper