Twitter बिजनेस अकाउंट के लिए बुरी खबर! अब देने होंगे हजारों रुपये, जाने क्या है वजह

नई दिल्ली। एलन मस्क के ट्विटर के CEO बनने के बाद से ही कंपनी में कई बड़े बदलाव किए गए है। इससे से एक था ट्विटर ब्लू में परिवर्तन। कंपनी ने अपने प्लेटफॉर्म के लिए नया अपडेट पेश किया, जिसमें तहत ट्विटर ब्लू के तीन अलग टिक के साथ पेश किया गया। जिसमें से गोल्डन टिक बिजनेस अकाउंट के निर्धारित किया गया, लेकिन अब खबर आ रही है कि गोल्डन टिक के लिए बिजनेस को 1000 डॉलर की कीमत चुकानी पड़ सकती है। आइये इसके बारे में जानते हैं।

जैसा कि हम सब जानते हैं कि एलन मस्क ने व्यवसायों के लिए नीले रंग के चेकमार्क को गोल्डन के साथ बदलकर, ट्विटर वेरिफिकेशन सिस्टम को नया रूप दिया। फिलहाल तो यह गोल्डन चेकमार्क मुफ्त ही था, लेकिन अब ट्विटर ने बिजनेस अकाउंट को अपने आधिकारिक ‘गोल्डन’ व्यापार बैज को बनाए रखने के लिए चार्ज ले सकती है।

एक अमेरिकी मीडिया कंपनी द इन्फॉर्मेशन की रिपोर्ट के अनुसार ट्विटर गोल्डन चेकमार्क के लिए व्यवसायों से प्रति माह 1000 डॉलर चार्ज करने की योजना पर चर्चा कर रहा है। अगर कोई व्यवसाय एफिलिएंट अकाउंट रखना चाहता है तो इन्हें प्रति माह $50 का अतिरिक्त शुल्क देना होगा।

बीते महीनों में ट्विटर ने तीन अलग-अलग चेकमार्क पेश किए , जिसमें नीला, ग्रे और गोल्ड तीन चेकमार्क शामिल हैं। जहां नीला रंग व्यक्तियों के लिए है, जबकि ग्रे सरकारी संगठनों के लिए है, और गोल्ड व्यवसायों के लिए है। संगठनों के लिए ट्विटर सत्यापन, जिसे पहले ब्लू फॉर बिजनेस के रूप में जाना जाता था, बिजनेस को एक गोल्ड चेकमार्क और एक चौकोर प्रोफाइल पिक्चर देता है।

बता दें कि ट्विटर ग्रे चेकमार्क के लिए सरकारी संगठनों से शुल्क नहीं लेता है। लेकिन अगर आपका एक व्यक्तिगत अकाउंट है तो आपको ट्विटर ब्लू के लिए 8 डॉलर चार्ज करता है।

एक सोशल मीडिया सलाहकार मैट नवारा ने ट्विटर पर मोनिटाइजेशन के प्रोडक्ट प्रबंधक इवान जोन्स के ईमेल का एक स्क्रीनशॉट साझा किया किया जो कि व्यवसायिक संगठन के लिए सत्यापन के शुरुआती एक्सेस प्रोग्राम के बारे में है, जिसमें यूजर्स को सूचित किया गया है कि इसकी लागत 1000 डॉलर प्रति माह होगी। साथ ही, संबद्ध खातों की कीमत प्रति माह 50 डॉलर प्रति खाता होगी, लेकिन कस्टमर्स को एक महीने की मुफ्त संबद्धता मिलेगी।

अब तक, ट्विटर या एलन मस्क ने गोल्ड चेकमार्क के लिए व्यवसायों को चार्ज करने के बारे में कुछ नहीं कहा है। लेकिन यह कदम जल्द ही उठाया जा सकता है क्योंकि नए सीईओ बड़े कर्ज से छुटकारा पाने के लिए राजस्व बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper