ओबीसी को 27% आरक्षण के मसले पर मध्य प्रदेश में सियासी संग्राम जारी, दिग्विजय सिंह बोले-सीएम शिवराज को शर्म आनी चाहिए

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव में ओबीसी वर्ग को आरक्षण (OBC Reservation) मिलने का रास्ता साफ हो गया है। बावजूद इसके सियासी संग्राम सूबे में जारी है। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने साफ तौर पर कहा कि आरक्षण किसी भी स्थिति में ओबीसी, एससी/एसटी को मिलाकर 50 फीसदी से अधिक नहीं होगा। ऐसे में ओबीसी को 14 प्रतिशत से अधिक आरक्षण का लाभ नहीं मिल पाएगा क्योंकि बाकी दोनों श्रेणियों को मिलाकर पहले ही 36 प्रतिशत आरक्षण है। इसी कड़ी में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने पूरे मामले को लेकर बीजेपी (BJP) पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि सीएम शिवराज को शर्म आनी चाहिए।

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश में साल 94 से पिछले पांच चुनावों में पिछड़ा वर्गों को 27% आरक्षण मिलता रहा था। भाजपा की नियत न पिछड़ा वर्गों के प्रति साफ है और न ही अनुसूचित जनजाति के प्रति। जानबूझकर नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 48-49% पिछड़ा वर्गों के पद ख़त्म हो गए हैं। 27% आरक्षण को कम करके उसे आप ने 14% कर दिया है। ये उत्साह मना रहे हैं। मुख्यमंत्री अपना सम्मान करवा रहे हैं। मुख्यमंत्री आपको शर्म आनी चाहिए। आप ने पिछड़ा वर्ग के साथ धोखा किया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper