सरकारी कर्मचार‍ियों की लगी लॉटरी, डीए में हुई बढ़ोतरी, 2 क‍िस्‍तों में म‍िलेगा एर‍ियर

नई दिल्ली. केंद्र सरकार की तरफ से स‍ितंबर में लाखों केंद्रीय कर्मचार‍ियों को महंगाई भत्‍ते का तोहफा द‍िये जाने के बाद अब एक और राज्‍य के कर्मचार‍ियों के ल‍िए गुड न्‍यूज आई है. केंद्र सरकार के बाद ब‍िहार, झारखंड, पंजाब, ह‍िमाचल प्रदेश, छत्‍तीसगढ़, उत्‍तर प्रदेश, मध्‍य प्रदेश और राजस्‍थान समेत कई राज्‍य सरकारें अपने कर्मचार‍ियों को गुड न्‍यूज दे चुकी हैं. मंगलवार को जम्‍मू-कश्‍मीर राज्‍य के सरकारी कर्मचार‍ियों का डीए बढ़ाकर 38 प्रत‍िशत करने का ऐलान क‍िया गया.

फाइनेंस ड‍िपार्टमेंट के सेक्रेटरी की तरफ से जारी आदेश में कहा गया क‍ि रेगुलर रूप से काम कर रहे सरकारी कर्मचार‍ियों का सातवें वेतन कमीशन की अनुशंसा के आधार पर महंगाई भत्‍ता 34 प्रत‍िशत से बढ़ाकर 38 प्रत‍िशत क‍िया जाता है. आपको बता दें कर्मचार‍ियों को महंगाई भत्‍ता बेस‍िक सैलरी के आधार पर द‍िया जाता है. नया महंगाई भत्‍ते 1 जनवरी 2022 से प्रभावी होगा.

आदेश में आगे कहा गया क‍ि बकाया एर‍ियर का भुगतान कर्मचार‍ियों को दो क‍िस्‍तों में नकद भुगतान के रूप में क‍िया जाएगा. एर‍ियर की पहली क‍िस्‍त का भुगतान नवंबर महीने के आख‍िरी में और दूसरी क‍िस्‍त का भुगतान द‍िसंबर महीने में क‍िया जाएगा. पेंशनर के ल‍िए अलग लेक‍िन इसी तरह का आदेश द‍िया गया है. पेंशनर की महंगाई भत्‍ते में भी 4 प्रत‍िशत का इजाफा क‍िया गया है. इन्‍हें भी एर‍ियर का भुगतान दो क‍िस्‍तों में नकद में क‍िया जाएगा.

इससे पहले केंद्र सरकार के साथ ही कई राज्‍य सरकारों ने स‍ितंबर से लेकर नवंबर तक महंगाई भत्‍ता बढ़ाने का ऐलान क‍िया है. केंद्र और व‍िभ‍िन्‍न राज्‍य सरकारों के इस फैसले से करोड़ों सरकारी कर्मचार‍ियों और पेंशनर को फायदा होगा. केंद्र सरकार के कर्मचार‍ियों का अगला महंगाई भत्‍ता जनवरी 2023 में ड्यू होगा. हालांक‍ि इसका ऐलान मार्च 2023 में क‍िये जाने की उम्‍मीद है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper