CNG Car चलाते समय भूल कर भी न करें ये गलती, वरना जान पर आ सकती है आफत

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों और पर्यावरण पर इनके होने वाले बुरे प्रभावों के कारण ज्यादातर लोग अब CNG वाली गाड़ियों की ओर रुख कर रहे हैं। यह मानक इंधनों की तुलना में सस्ता तो होता है, लेकिन इसे चलाते समय कुछ सावधानी बरतने की जरूरत है, जिसे अनदेखा करने पर जान-माल का भारी नुकसान हो सकता है। इसलिए आज हम आपको सीएनजी कारों से जुड़ी कुछ जरूरी बातें बताने जा रहे हैं।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि सीएनजी कारों को चलाने के लिए गैस का इस्तेमाल होता है और गैसों के साथ हमेशा इसके लीकेज का खतरा बना रहता है। ऐसा समय के साथ फिटिंग के लूज हो जाने की वजह से होता है। इसलिए सीएनजी कारों के अंदर या आस-पास में भूलकर भी धूम्रपान न करें। इस बात को अनदेखा करना जानलेवा हो सकता है।

सीएनजी कारों को ज्यादा स्पीड में चलाने से फिलिंग वाल टूटने का डर रहता है। इसके बाद गैस का रिसाव शुरू हो जाता है। यह वाल कार के आगे बोनट पर रहता है, जिसके बगल में इंजन और बैटरी भी होती है। इस स्थिति में अगर फिलिंग वाल टूट जाता है तो चोटी सी चिंगारी से भी आग लग सकता है।

बहुत से लोग अपनी सामान्य कार को सीएनजी कार में बदलने के लिए बाहर से किट लगवाते हैं। लेकिन, इसके लिए सस्ते किट को खरीदते हैं। आज बाजार में बहुत से चाइनीज किट कम कीमत पर उपलब्ध हैं। हालांकि, एक्सपर्ट का कहना है कि इटालियन व भारतीय सीएनजी किट लगवाना काफी सुरक्षित होता है, क्योंकि इनमे बेहतर क्वालिटी के मटेरियल का इस्तेमाल किया जाता है।

कार में अलग से CNG किट फिट कराना हो सकता है जानलेवा, जानिए क्या है इससे बचने का तरीका

लेना चाहते हैं किफायती सीएनजी कार तो टाटा के इस नए मॉडल्स पर डालें एक नजर

आरसी ट्रांसफर करने के लिए जरूरी दस्तावेज
RC ट्रांसफर के दौरान ये डॉक्यूमेंट्स जरूर रखें साथ, इन आसान तरीकों से कर सकते हैं ऑनलाइन आवेदन

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper