ग्रीन टी हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद, ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मिलती है मदद

नई दिल्ली: एक्सपटर्स के अनुसार, ग्रीन टी हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद मानी जाती है और इससे कई बीमारियों में राहत मिलती है। कुछ लोग इसे वेट लॉस के लिए भी इस्तेमाल करते हैं। ताजा अध्ययन में खुलासा हुआ है कि ग्रीन टी पीने से ब्लड शुगर लेवल और आंतों की सूजन कम करने में मददगार साबित होती है। जो लोग मेटाबॉलिक सिंड्रोम से जूझ रहे हैं, उनके लिए भी दिन में 4-5 कप ग्रीन टी पीना फायदेमंद बताया गया है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक ग्रीन टी को लेकर अमेरिका के पेंसिल्वेनिया और ओहायो स्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने यह स्टडी की। इसमें पता चला कि ग्रीन टी के एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मेटाबॉलिक सिंड्रोम से जुड़ी बीमारियों के खतरे को कम करने में मददगार साबित होते हैं। मेटाबॉलिक सिंड्रोम शरीर में इंसुलिन को रोकता है, जिससे लोगों को डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है।

ग्रीन टी पीने से ब्लड शुगर लेवल कम होता है और आंतों की सूजन से काफी हद तक राहत मिलती है। ग्रीन टी के गुण कार्डियोमेटाबॉलिक रोगों के जोखिम को 15 साल तक कम कर सकते हैं। स्टडी के मुताबिक ग्रीन टी में पॉलिफिनॉल्स कंपाउंड पाया जाता है, जो बेरी और सेब जैसे फलों में होता है। अगर कोई व्यक्ति हर दिन 5 कप ग्रीन टी पिए तो इससे शरीर को कई फायदे होंगे। खास बात यह है कि जो लोग पूरी तरह स्वस्थ हैं, वह भी हर दिन 1 से 2 कप ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं। ये सभी लोगों के लिए फायदेमंद बताई गई है।

शोधकर्ताओं के मुताबिक शरीर के किसी भी अंग पर सूजन आने से क्रॉनिक डिजीज का खतरा बढ़ जाता है। इसे रोकने के लिए ग्रीन टी फायदेमंद होती है। जो लोग ग्रीन टी के बजाय सप्लीमेंट लेते हैं, उन्हें भी यह आसान तरीका अपनाना चाहिए।शोधकर्ताओं का कहना है कि फिलहाल इस बात को लेकर रिसर्च करने की जरूरत है कि ग्रीन टी शरीर में मौजूद खतरनाक बैक्टीरिया को खत्म करती है और हेल्दी बैक्टीरिया की संख्या में बढ़ोतरी करती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper