100 पुलिसकर्मियों की 10 टीमों ने जंगल मे सघन कॉम्बिंग कर अगवा नवविवाहित दंपति को छुडाया, पांच गिरफ्तार

झालावाड़ । 2 महीने पहले कोर्ट मैरिज करने वाले नवविवाहित जोड़े के घर हथियार समेत घुसकर मारपीट कर अगवा करने के मामले में जिला पुलिस ने टीम भावना की बेहतरीन मिसाल पेश कर लगातार 18 घंटे तक कोटडा व भगवानपुरा के जंगल में सघन सर्च ऑपरेशन चलाकर 3 घंटे के अंदर अपह्रत पति एवं 18 घंटे के अंदर पत्नी को दस्तयाब कर लिया। इस कार्रवाई के लिए 100 पुलिसकर्मियों की 10 टीमों का गठन किया गया था। युवती के पूर्व पति ने अपने परिजनों और दोस्तों के साथ मिलकर घटना को अंजाम देने की साजिश रची थी।

झालावाड़ एसपी ऋचा तोमर ने बताया कि थाना डग निवासी फूलाबाई ने बुधवार रात एक रिपोर्ट दर्ज कराई। जिसमें बताया कि आज रात 8:00 बजे वह अपने दोनों बेटों राजू और अरविंद, अरविंद की पत्नी सपना और दोस्त नरेंद्र सिंह के साथ खाना खा रही थी। इसी बीच हाथों में लाठी, तलवार ओर बंदूक लिए 7-8 अज्ञात व्यक्ति उनके घर में घुस गए और सभी के साथ हथियार एवं लात-घूंसों से मारपीट क। उसके बाद बेटे अरविंद और बहुत सपना को मारपीट करते हुए साथ में लाए चौपहिया वाहन में अगवा कर ले गए।

घटना की गंभीरता को देख एसपी तोमर द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रकाश कुमार शर्मा और देवेंद्र सिंह राजावत के निर्देशन व सीओ बृज मोहन मीणा के सुपरविजन में एसएचओ डग प्रेम बिहारी, एसएचओ मिश्रौली अजय कुमार शर्मा, एसएचओ भवानीमंडी विजय सिंह, एसएचओ पगारिया, सुनेल, पिड़ावा एवं साइबर सेल से 100 पुलिसकर्मियों की 10 टीमें गठित की।

गठित की गई टीमों ने तुरंत ही टीम भावना से काम करते हुए घटना में प्रयुक्त वाहन का लगातार पीछा किया। पुलिस को पीछा करते देख आरोपी गाड़ी को छोड़ कोटडा के जंगल में छिप गए। सभी टीमों द्वारा रात को कोटला के जंगल में सर्च ऑपरेशन चलाया गया और मात्र 3 घंटे के अंदर अपहृत अरविंद को घायल अवस्था में दस्तयाब कर तीन आरोपियों को डिटेन किया। अगवा की गई सपना की तलाश में पुलिस की टीमों ने रात भर ऑपरेशन जारी रखा। गुरुवार दोपहर 12:00 बजे कोटडा-भगवानपुरा के जंगलों से सपना को दस्तयाब कर उसके पूर्व पति धनराज को डिटेन किया गया। अपह्रत अरविंद व सपना को अस्पताल में दाखिल करवाया गया है।

इन्हें किया गया गिरफ्तार
अपह्रत सपना के पूर्व पति धनराज मेहर पुत्र भैरू लाल (22) निवासी भगवानपुरा थाना पिडावा के अलावा श्यामलाल मेहर पुत्र रोडुलाल (30) व रोडु लाल मेहर पुत्र प्रकाश लाल (35) निवासी कोटडा थाना पिडावा, रमेश मेहर पुत्र माधु लाल (50) निवासी गुराडिया जोगा थाना मिश्रोली एवं एलकार सिह पुत्र दुल्हे सिह निवासी बांसखेडी थाना पिडावा को गिरफ्तार किया गया है।

झगड़ा राशि लिए अपहरण की साजिश कर फिरौती की मांग की गई
अपह्रत सपना ने पुलिस को बताया कि धनराज से उसकी शादी परिजनों की रजामंदी से हुई थी। शादी के बाद धनराज उसके साथ मारपीट करता था। जिसकी वजह से उसने उसे छोड़कर अरविंद से कोर्ट मैरिज कर ली। धनराज व उसके परिजन उनसे झगड़ा राशि की मांग करने लगे। रकम देने के बाद भी उनका लालच खत्म नहीं हुआ और वे बार-बार पैसों की मांग करने लगे।दुबारा पैसे नहीं देने की वजह से ही अपहरण किया गया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper